पित्र दोष पूजा


पित्र दोष पूजा

trimbakeshwar-pooja
नारायण नागबली ये दोनो विधी मानव की अपूर्ण इच्छा , कामना पूर्ण करने के उद्देश से किय जाते है इसीलिए येदोने विधी काम्यू कहलाते है।

नारायणबलि और नागबपलि ये अलग-अलग विधीयां है। नारायण बलि का उद्देश मुखत:पितृदोष निवारण करना है । और नागबलि का उद्देश सर्प/साप/नाग हत्याह का दोष निवारण करना है। केवल नारायणबलि यां नागबलि कर नहीं सकतें, इसगलिए ये दोनो विधीयां एकसाथ ही करनी पडती हैं।

पितृदोष निवारण के लिए नारायण नागबली कर्म करने के लिये शास्त्रों मे निर्देशित किया गया है । प्राय: यह कर्मजातक के दुर्भाग्य संबधी दोषों से मुक्ति दिलाने के लिए किये जाते है। ये कर्म किस प्रकार व कौन इन्हें कर सकता है,इसकी पूर्ण जानकारी होना अति आवश्यक है।


trimbakeshwar-pooja

कृपया ध्यान दे :

  • नारायण नागबली पूजा 3 दिनों की है जिसमे विधी करने वालोको 3 दिन त्र्यंबकेश्वर मे रुकना पडता है।कृपया मुहर्त के एक दिन पहले या सुबह जल्दी 6 बजे तक त्र्यंबकेश्वर मे पहुचना पडता है |
  • इस विधी की दक्षना मे सभी पूजा सामग्री और 2 व्यक्तियों के लिए खाने कि व्यवस्था हमारे तरफ से होती है |
  • कृपया आप के साथ नये सफेद कपड़े धोती, गमछा (नैपकिन), और आपकी पत्नी के लिये साड़ी, ब्लाउज जिसका रंगकाला या हरा नही होना चाहीये।
  • इस विधी के लिए आपको एक 1.25 ग्राम सोने का और 8 चांदीके नाग लेके आना है।
  • विधी के चार दिन पहले कृपया फोन करके हमे अवगत कराये।



अधिक माहितीसाठी संपर्क करा

श्री. पदमाकर बी. पिंगळे

+(91)-9922144835
+(91)-9323548982
+(91)-9322831290

ईमेल: contact@trimbakeshwarkalsarppooja.com



Copyright ©2020 Trimbakeshwarkalsarppooja.com | Website developed by Nasik Services.Com