नक्षत्रशांती पूजा


नक्षत्रशांती पूजा

हमारी प्राचिन वैदिक ज्योतिष के अनुसार हमरे जीवन मे जन्म नक्षत्र महत्वपूर्ण भूमिका निभता है। अपके जन्म के समय में चाँद जिस नक्षत्र में आता है उसे जन्म नक्षत्र कहा जाता है। इस जन्म नक्षत्र का आपके जीवन पर भी प्रभाव पडता है। ये जन्म नक्षत्र हमारे रवैये, भौतिक उपस्थिति और भविष्य पर प्रभाव पाडता है। जन्म नक्षत्र हमारे सोच पैटर्न, भाग्य, सहज ज्ञान को निर्धारित करता है और व्यक्तित्व के पहलुओं का अवचेतन भी नियंत्रित करता है।

नक्षत्र शांति पूजा हर साल जन्म नक्षत्र संरक्षण और साल भर में बेहतर परिणाम देने के लिए किया जाता है। नक्षत्र पूजा में आयुष्य होम (दीर्घायु) के लिए, मृत्युंजय होम (अच्छे स्वास्थ्य के लिए और क्रोनिक बीमारियों से छुटकारा पाने के लिए),नवग्रह दोष शान्ति पूजा, सप्त चिरंजीवी पूजा/होम शामिल हैं। चिरंजीवी व्यक्ति वो है जो कभी नहीं मरता है। उसमें बाली, व्यास , हनुमान , विभिषन, परशुराम और कृपा के रूप में सप्त चिरंजीवी है।

वर्ष मे एक बार नक्षत्र पूजा करनी चहिये खास कार आपके जन्म मास मे। इससे अधिकतम वांछित लाभ प्राप्त होता है।


नक्षत्रों और राशिया :

  • मेष
    अश्विनी, भरणी, कृत्तिका नक्षत्र  
  • वृषभ
    कृत्तिका, रोहिणी, म्रृगशीर्षा नक्षत्र
  • मिथुन
    म्रृगशीर्षा , आर्द्रा, पुनर्वसु नक्षत्र  
  • कर्क
    पुनर्वसु, पुष्य, अश्लेषा नक्षत्र
  • सिंह
    मेघा, पूर्वा फाल्गुनी, उत्तरा फाल्गुनी. नक्षत्र
  • कन्या
    उत्तरा फाल्गुनी, हस्त, चित्रा नक्षत्र  
  • तुळ
    चित्रा, स्वाति, विशाखा नक्षत्र
  • वृश्चिक
    विशाखा, अनुराधा, ज्येष्ठा नक्षत्र 
  • धनु
    मूल , पूर्वाषाढ़ा , उत्तराषाढ़ा नक्षत्र
  • मकर
    उत्तराषाढ़ा, श्रवण,धनिष्ठा नक्षत्र
  • कुम्भ
    धनिष्ठा, शतभिषा, पूर्वभाद्र नक्षत्र
  • मीन
    पूर्वभाद्र, उत्तरभाद्र, रेवती नक्षत्र



अधिक माहितीसाठी संपर्क करा

श्री. पदमाकर बी. पिंगळे

+(91)-9922144835
+(91)-9323548982
+(91)-9322831290

ईमेल: contact@trimbakeshwarkalsarppooja.com



Copyright ©2020 Trimbakeshwarkalsarppooja.com | Website developed by Nasik Services.Com