पंडितजी के बारेमे


Padmakar Pingale

पिंगळे कुटूंब पिंगळे परिवार ३५० वर्षसे श्रीक्षेत्र त्र्यंबकेश्वर में पाच आळी, परशुराम मंदिर , पिंगळे वाडा यहाँपे वास्तव्य कर रहे है|

कालसर्प शांती पुजाकी संकल्पना हमरे दादा (श्री .पद्माकर भास्कर पिंगळे इनके काकाजी ) वे .शा. सं . कै.पुरुषोत्तम त्र्यंबक पिंगळे इन्होने प्रथम 60 सालोंके पेहेले लिखी|

उन्होनेहि संपूर्ण पोथी लिखकर शास्त्रोक्त पद्धतीसे कालसर्प शांती की शुरुवात त्र्यंबकेश्वर में की| आज संपूर्ण त्र्यंबकेश्वरमें यह विधि किया जाता है| ब्रम्हा, विष्णू, महेशएकहि स्थान्मे होने के कारण इस विधि को विशेष मेहेत्त्व है|

त्र्यंबकेश्वर हे १२ ज्योतिर्लिंगोमे से 10वा स्वयंभू ज्योतिर्लिं है|





Padmakar Pingale
श्री . प्रमोद पद्माकर पिंगळे ये पिछले 11 सालोंसे कालसर्प पूजा, त्रिपिंडी श्राद्ध , नारायण नागबली, नक्षत्र शांती , रुद्राभिषेक, लघुरुद्र और दूसरी विधियाँ शास्त्रोक्त पद्धतीसे कर रहे है|




अधिक माहितीसाठी संपर्क करा

श्री. पदमाकर बी. पिंगळे

+(91)-9922144835
+(91)-9323548982
+(91)-9322831290

ईमेल: contact@trimbakeshwarkalsarppooja.com



Copyright ©2020 Trimbakeshwarkalsarppooja.com | Website developed by Nasik Services.Com